Namumkin Ko Mumkin Karne Ki Dua Wazifa

Namumkin Ko Mumkin Karne Ki Dua Wazifa

Namumkin Ko Mumkin Karne Ki Dua Wazifa , ” अस्सलामु अलैकुम मेरे दोस्तों आज आपके सामने हर नामुमकिन काम को मुमकिन बनाने और उसे करने की दुआ पेश कर रहा हूँ . दुनिया में बहुत से नामुमकिन काम हैं , जो एक इंसान पूरी ज़िंदगी बार मुमकिन नहीं कर सख्ता हैं . नामुमकिन को मुमकिन करने की दुआ , अल्लाह से की हुई दुआ भी उस इंसान के काम या साथ नहीं देती हैं . अल्लाह ता ‘अला को राज़ी (हैप्पी ) करने के लिए उसे दुआ , वज़ीफ़ा करना परता हैं . आप नमाज़ को मत कहिये की मुझे काम करना , आप काम को कहिये की मुझे नमाज़ करनी हैं . इस दुनिया में सब कुछ हो सकता हैं बस आप अल्लाह पर याकिन रखे .

कभी सबर से ज़्यादा दुआ की ज़रुरत होती हैं . नामुमकिन को मुमकिन बनाने की दुआ , जब उससे मुश्किल वक़्त का सामना करना परता हैं . कुछ ला – हासिल नहीं होता दुआ तक़दीर बदल देती हैं . नामुमकिन काम बहुत हैन जो आपको परेशां करते रहते हैं . शादी में रुकावट आना , रिश्ते नहीं होना , नौकरी न मिलना , कोई दवा दुआ न लग्न , किसी बुसिनेस्स में सक्सेस न होना , पासना की शादी न होना .

कुछ अछि बातेंन जो आपकी ज़िंदगी बदल दे

हम्हारे पास बहुत से परेशान लोग आते हैं और हमसे अपनी शेयर करते हैं . वो जो अपनी ज़िंदगी से परेशां हैं . हम बस उनने एहि कहते हैं की आप अपने आपको देख कर मत जिओ दुसरो की ज़िंदगी से सीखे की वो कैसे जीते हैं , क्योकि उनकी परेशानी के सामने आपकी परेशानी कुछ भी नहीं . कुछ अछि बातिअन अपनी ज़िंदगी में डेल और अल्लाह आपकी ज़िंदगी सवार देंगे . अल्लाह आपको हमेशा कुछ रखेंगे . उसके बाद आप जो भी नामुमकिन काम करेंगे वो अल्लाह अपने आप मुमकिन बना देंगे इंशा अल्लाह .

कभी किसी इंसान के बारे में गलत न बोले याद रखिये क्योकि उसकी भी ज़ुबान हैं और आपके भी कान हैं ;

एक दूसरे की इंसल्ट न करे ;

गलत राह न चले :

जब आप किसी का ाचा करेंगे तब आपके साथ ाचा होगा बस सबर रखिये ;

अपने वालिदैन (पेरेंट्स ) और सब से अछए और मोहब्बत से रहो ;

Wazifa For Difficult To Conceivable

अगर आप किसी ऐसी मुश्किल में हैं जिस का हल आप की समझ में नहीं आ रा हैं . उस वक़्त अपने मुसीबत न हो क्योकि अल्लाह के सामने कोई भी चीज़ नामुमकीन नहीं हैं , अल्लाह किसी वक़्त कुछ भी कर सकते हैं , आप इस वज़ीफा तो मेक इम्पॉसिबल तो पॉसिबल को

करे और कुछ ही दिनों के बितर अल्लाह आपका नामुमकिन काम को मुमकिन बनता हैं .

सबसे पहले अमल ताज़ा वज़ू कर के जाये नमाज़ में बेटे ,

जिस कमरे में आप ये वज़ीफ़ा करे दयँ रहे की उस कमरे में आप कइलावा कोई न हो ,

फिर १३ मर्तबा सौराह हुड फर कर पूरे खुशु ो खुज़ु के साथ दुआ करें और यइ तसवर रखें की आप अल्लाह के सामने बेटे हैं और अल्लाह आप की बात सुन रहे हैं , इन श अल्लाह एक दफा के अमल से ही काम होजाये गए .

इस वज़ीफ़ा को अपने सोने से टिक पहले ही करना हैं .

हम अल्लाह सइ आपके लिए दुआ करेंगे की आपका हर नामुमकिन काम मुमकिन बन जाये इंशा अल्लाह .

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *